समर्थक

अगस्त 22, 2015

स्त्री को जो मिला पढ़ने का अधिकार--


स्त्री को जो मिला
पढ़ने का अधिकार
कुछ ज्यादा ही पढ़ लिया
पुरुषो से
बढ़कर |

किया जब एम.ए. और एल.एल.बी.
बन गयी जब पुरुषों की बीबी |

गयी  दुल्हन बनकर जब ससुराल
झाड़ा ससुर-सास पर
अपनी गिटपिट बनकर दलाल
पति को भी नहीं छोड़ा
 बना लिया गुलाम
पति ने किया
खड़े होकर पत्नी को सलाम |

स्त्री कुछ ज्यादा ही बढ़ी
लेकर बेलन हुई खड़ी
स्त्री को जो मिला
पढ़ने का अधिकार
कुछ ज्यादा ही पढ़ लिया
पुरुषो को पिछड़ा कर |

||सविता मिश्रा ||
१/१९८७