समर्थक

जून 02, 2017

हारा मन-

तमस था घिरा
मन में
तन भी था
कमजोर थका
कैसे लड़े बुराई से
वह था ताकतवर बड़ा

उठा पटक चलती रही
तन मन के बीच
मन हारा जब
तन तो था
पहले से ही हार गया

कमजोरी का अहसास
मन को भी मार गया |

||सविता मिश्रा 'अक्षजा'||

कोई टिप्पणी नहीं: