समर्थक

अक्तूबर 02, 2014

~तीन सीख ~(गाँधी के तीन बंदर)

गाँधी के तीन बंदर
=============
गाँधी जी ने हमारा भविष्य ताड़ लिया था
तभी तो तीन बंदरों का उदाहरण दिया था |
कुछ भी गलत होता हुआ देखो
पहले बन्दर को याद रखो
गलत देखकर भी अनदेखा कर
धीरे से चलते बनो |

तुम्हारें किसी भी कार्य पर
कोई कुछ प्रतिक्रिया करे तो
दूसरे बन्दर को याद करो
सुनकर भी अनसुनी करो |

यदि कोई इस पर क्रोध कर गालियाँ दे तो शांत हो!
तीसरे बन्दर को याद करो
ना बोलने में ही भलाई है
यह भाव रखो
ठिठको नहीं!
आगे की ओर कदम करो|

यदि अपने जीवन में
यह तीन सीख ले ली
तो समझो!
तुमसे ज्यादा ज्ञानी,
सहनशील एवं प्रगतिशील
कोई भी नहीं ||...सविता मिश्रा

1 टिप्पणी:

vibha rani Shrivastava ने कहा…

solah aane sachchi khari baat likhi
snehaashish bachchi