समर्थक

मार्च 15, 2013

+++सच्चाई की शक्ति +++

सच्चाई के लिए लड़ते हुए ,
खोया बहुत कुछ ,
पाया !
पाया कुछ भी नहीं |
फिर भी गर्व है खुद पर ,
सर उठा
गर्व से चलते है ,
आँख से आँख मिला कहते है ,
पीछे कदम नहीं हटाते है ,
आगे ही आगे बढ़ते जाते है |
सच कहते है सच्चाई में ,
एक अजीब सी शक्ति है ,
जो ना हमें झुकने देती है ,
ना ही रुकने देती है |
गर्व से सर उठा चलते जाते है,
सच्चाई के लिए लड़ते जाते है | ||सविता मिश्रा ||

कोई टिप्पणी नहीं: