समर्थक

दिसंबर 12, 2012

+फायकू +


१-उधार ले ले जीतें
अब और क्या
तुम्हारें लिए

२-बनिया खूब चिल्ला पड़ा
चुकता किया उधार
तुम्हारें लिए

३-तुम हमारी धड़कन बनो
हम दिल बसे
तुम्हारें लिए

४-मरने के बाद भी
पीछा ना छोडू
तुम्हारें लिए

५-घर को खुबसूरत किया
चाहत पूरी की
तुम्हारें लिए

६-दर्दे इश्क क्या है
पुछु आशिक से
तुम्हारें लिए

७-फूल नारियल चढ़ा आई
मिन्नतें खूब की
तुम्हारें लिए

८-सभ्य थे हम कभी
असभ्य बन गये
तुम्हारें लिए

९-लक्ष्मण रेखा की पार
रक्षार्थ ही तुम्हारें
तुम्हारें लिए

१०-तन-मन- धन चाहिए
तुम्हारें ही साथ
तुम्हारें लिए

११-करती दुनिया तुम्हारी बुराई
भृकुटी तानी हमने
तुम्हारें लिए

१२-क्रोध की अति नहीं
शांत रहती बस
तुम्हारें लिए

१३-भूख लगी फिर भी
इंतजार तेरा ही
तुम्हारें लिए

१४-चोर चोर मौसेरे भाई
पकड़ें ही गये
तुम्हारें लिए

१५-तुम जो चाहों सब
बने हम बस
तुम्हारें लिए

++सविता मिश्रा ++

1 टिप्पणी:

बेनामी ने कहा…

अच्छा ....